- Advertisement -

- Advertisement -

सब लोगों से दोस्ती, सब लोगों से बैर

खुशवंत सिंह साहब का पहला उपन्यास जो मैंने पढ़ा, वो इत्तिफाकन पढ़ा। मैं उस समय बीए में पढ़ता था, क्राइस्ट चर्च कॉलेज कानपुर में। खुशवंत सिंह के कॉलम के हिन्दी अनुवाद, ना काहू से दोस्ती, ना काहू से बैर का मैं नियमित पाठक था और वो अंग्रेजी के बड़े पत्रकार और लेखक हैं बस इतना भर मेरी जानकारी थी। कानपुर से सुल्तानपुर अपने घर जा रहा था, बस अड्डे पर आदतन…
Read More...

दुख तो देंगी ही परसंताप से बनी सरकारें

समाज में जब कोई परिवर्तन सतह पर दिखता है तो ये मान कर चलिए की उसकी शुरुआत बहुत पहले हो चुकी होती है, दिक्कत बस यही है कि पिछले करीब दो दशक से अपनी जड़ों से कट…
Read More...

लखनऊ की मलिका किश्वर की नज़ीर – पार्ट 2

इधर नवाब ने भी गद्दी छोड़ने से इंकार कर दिया। नतीजे में कंपनी ने अवध पर कब्जा कर लिया और नवाब को लखनऊ छोड़ कलकत्ते मटिया बुर्ज के लिए रवाना किया। उनकी पेंशन भी…
Read More...

लखनऊ की मलिका किश्वर की नज़ीर – पार्ट 1

उपनिवेश बाद का दौर था और यूरोप के तमाम देशों के अपने अपने उपनिवेश थे, जहां आजादी के लिए हिंसक संघर्ष हो रहे थे। ऐसे में दक्षिण अफ्रीका पहुंचे बैरिस्टर मोहन दास करम चंद गांधी ने वहां पर आजादी का अहिंसक आंदोलन शुरू किया। वह दर असल प्रयोग था जो काफी सफल रहा। उस शुरुआती सफलता के साथ महात्मा गांधी भारत लौटे और भारत के आजादी के आंदोलन मे शामिल हुए।…
Read More...

पिंक बूथ जैसा रहा योगी जी का कार्यकाल

हालांकि मेरी कोई हैसियत नहीं, लेकिन भारत का नागरिक और मतदाता तो हूं ही, इस नाते थोड़ा बहुत कुछ कहने का अधिकार फिलहाल तो मेरे पास है ही। जब योगी जी आए थे तो उसी…
Read More...

देश में लोकतंत्र और वंशवाद का अनूठा दौर

अपने देश में लोकतंत्र का फिलहाल जो मॉडल चल रहा है, वो इंग्लैंड और फ्रांस की देन है। हमारे संविधान का मूल ड्राफ्ट इंग्लैंड की देखरेख में 1935 में ही बनने लगा था,…
Read More...

सऊदी अरब में वैश्विक महत्व वाला बदलाव

हाल में सऊदी शासक प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान का एक इंटरव्यू अल-अरबिया चैनल पर आया। इंटरव्यू लेने वाले प्रसिद्ध पत्रकार अब्दुल्ला अल-मुदैफर थे। कुछ अवलोकनकर्ता इसकी अनेक बातों को धरती हिलने जैसी घटना बता रहे हैं। विदित हो कि इधर तीन दशकों से भी अधिक समय से सऊदी अरब पूरे विश्व में बहावी इस्लाम का प्रेरक रहा है। कई मुस्लिम भी मानते हैं कि सऊदी…
Read More...

भक्तों के भगवान : भूत, भविष्य और वर्तमान

भक्तों के भगवान : भूत, भविष्य और वर्तमान  भक्तों के भगवान ने नोटबंदी और जीएसटी से न सिर्फ अर्थव्यवस्था का बाजा बजाया बल्कि स्विडिश बैंक में रखे काले धन को…
Read More...

कैसा लगता है जब डाकू आपकी खुशामद करें

आव-भगत हुई वो भी संगीनों के साये में  चाँदनी रात में चम्बल के बीहड़ों की छटा ही निराली होती है। जिस टीले पर आप खड़े हैं हो सकता था कि उसके अगले टीले के पीछे…
Read More...

Andha bhakti se baaz aayen, dekhiye taki sanad rahe

अमित जायसवाल को श्रद्धांजलि देने से पहले उसका क़िस्सा पढ़ लीजिए। आगरे में होर्डिंग बनाने का काम करने वाल अमित बचपन में RSS के सम्पर्क में आया और बड़ा हुआ तो योगी और मोदी का भक्त बन गया। मोदी ट्विटर पर फ़ॉलो करते थे उसे और इस गर्व में अपनी कार के पीछे बड़ा सा पोस्टर लगाए मोदी योगी के ख़िलाफ़ कुछ भी कहने वालों से भिड़ जाता…
Read More...
भाइयों और बहनों,

आपके आसपास बहुत कुछ ऐसा होगा जिसको आप चाहते होंगे कि और लोग भी जानें। तो बस ऐसी ही बातों को लिख डालिये और हमारी इस साइट पर प्रकाशन के लिए भेज दीजिए। अपने लेखों को हमारे पते anehasgoldentalk@gmail.com पर Mangal Font में भेजिए। सब्जेक्ट में Golden Talk लिखना न भूलें। इस सम्बन्ध में अगर आप कोई और जानकारी चाहते हों तो मुझसे 7521924486 पर सम्पर्क कर सकते हैं। अपने लेखों को 9543633502 पर WhatsApp भी कर सकते हैं।
धन्यवाद

अनेहस शाश्वत
About Me

Anehas Shashwat

स्वतंत्रता मिले आधी शताब्दी से ज़्यादा हुए। इस अवधि में देश लोकतंत्र से भीड़तन्त्र की ओर जाता दिख रहा है। इसके कारण और निदान की पड़ताल बेहद ज़रूरी है। फ़िलहाल इसी काम का आनन्द लिया जा रहा है...

- Advertisement -

- Advertisement -

Subscribe Newsletter

Powered by MailChimp

- Advertisement -

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More