- Advertisement -

- Advertisement -

Andha bhakti se baaz aayen, dekhiye taki sanad rahe

0 942

 

 

bjp

अमित जायसवाल को श्रद्धांजलि देने से पहले उसका क़िस्सा पढ़ लीजिए।

आगरे में होर्डिंग बनाने का काम करने वाल अमित बचपन में RSS के सम्पर्क में आया और बड़ा हुआ तो योगी और मोदी का भक्त बन गया। मोदी ट्विटर पर फ़ॉलो करते थे उसे और इस गर्व में अपनी कार के पीछे बड़ा सा पोस्टर लगाए मोदी योगी के ख़िलाफ़ कुछ भी कहने वालों से भिड़ जाता था। अयोध्या होकर आया था और जल्द ही पूरे शहर में राम मंदिर के होर्डिंग मुफ़्त लगाने वाला था।

लेकिन इस बीच उसकी माँ को कोविड हुआ फिर उसे ख़ुद। आगरे में अस्पताल तक न मिल सका। घर वालों ने मोदी-योगी को टैग कर सहायता की अपीलें कीं। कोई सुनवाई न हुई। किसी तरह मथुरा में बेड का जुगाड़ किया लेकिन पहले माँ चल बसीं और फिर ख़ुद चालीस साल का अमित। भाई ने ग़ुस्से में पोस्टर फाड़ दिया कार से…

मैं अमित को नहीं जानता था लेकिन दिन रात सोशल मीडिया पर जाने कितने अमितों को देखता रहता हूँ…

(विस्तार के लिए लिंक देखिए पहले कमेंट में)

RSS worker Modi followed on Twitter dies of Covid. PM didn’t help despite plea tweet, family cries

You might also like
Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More